बिहार बोर्ड मैट्रिक रिजल्ट 2020 : इन वेबसाइट पर देख सकते हैं रिजल्ट ।


बिहार बोर्ड कक्षा 10 रिजल्ट : 26 मई 2020 को दोपहर 12:30 बजे बिहार बोर्ड कक्षा 10 का रिजल्ट जारी हो रहा है। छात्र अपना रिजल्ट देखने के लिए उत्सुक हैं। बहुत से छात्र सोच रहे होंगे कि हम अपने रिजल्ट को कैसे देखेंगे आपको बता दें कि आप का रिजल्ट विभिन्न वेबसाइटों पर जारी किया जाएगा जहां पर जाकर आप अपने रिजल्ट को देख सकते हैं। आप इस लेख को पूरा पढ़िए जिससे आप को अपना रिजल्ट देखने में किसी भी परेशानी का सामना न करना पड़े।




जब भी किसी भी बोर्ड का रिजल्ट जारी होता है वह रिजल्ट सर्वाधिक जिस वेबसाइट पर देखा जाता है वह वेबसाइट थोड़ा व्यस्त होती है। जिससे रिजल्ट देखने में टाइम लगता है आपको बता दें कि नीचे आपको उन सभी वेबसाइट के लिंक मिल जाएगी जिन के द्वारा आप अपने एजेंट को देख सकते हैं ।



इन वेबसाइटों पर जारी होगा रिजल्ट

शिक्षा मंत्री द्वारा परिणामों की घोषणा के बाद छात्रों के लिए रिजल्ट का लिंक भी सक्रिय हो जाएगा। ये लिंक बिहार बोर्ड की ऑफिशियल वेबसाइट पर मिलेगा। बिहार बोर्ड अपनी ऑफिशियल वेबसाइट के अलावा अन्य वेबसाइट्स पर भी परिणाम का लिंक सक्रिय करता है, इनकी सूची आपको आगे दी जा रही है। 



रिजल्ट कैसे देखें

रिजल्ट देखने के लिए आपको नीचे एक साड़ी देवी है जिसमें लगभग 5 से 6 वेबसाइटों के लिंक दी हुई है आप उनमें से किसी बर्फी क्लिक कर सकते हैं
उसके बाद आपके सामने उस लिंक द्वारा एक पेज ओपन होगा
उसमें आपको अपनी कक्षा पर क्लिक करना है और उसके बाद आपके सामने दूसरा पेज ओपन होगा
जहां पर आपको अपना रोल नंबर डालकर अपने रिजल्ट को देख लेना।




नीचे दी गई लिंक लिस्ट में चाहिए किसी भी लिंक पर क्लिक करके अपने रिजल्ट को आप बहुत आसानी से चेक कर सकते हैं।




85 फीसदी से अधिक बच्चे हो सकते हैं पास
बोर्ड सूत्रों के अनुसार इस बार रिजल्ट 85 फीसदी से अधिक होगा। पिछली बार 80.73 फीसदी रिजल्ट रहा था। इस बार रिजल्ट में छात्रों को 20 फीसदी अतिरिक्त विकल्प वाले प्रश्नों का फायदा होगा। इससे रिजल्ट का पास प्रतिशत बढ़ सकता है। मैट्रिक 2020 में पहली बार सभी विषयों में वस्तुनिष्ठ प्रश्नों में 20 फीसदी अतिरिक्त विकल्प छात्रों को मिला था। यानी 100 अंकों की परीक्षा में 60 वस्तुनिष्ठ प्रश्न थे। इनमें 50 प्रश्न का जवाब छात्रों को देना था। इसका फायदा इस बार के रिजल्ट में भी दिखेगा। 20 फीसदी अतिरिक्त विकल्प वाले प्रश्न होने से वस्तुनिष्ठ प्रश्न का उत्तर देने में छात्रों को सुविधा मिली। सूत्रों की मानें तो इस बार 85 फीसदी तक उत्तीर्णता की संभावना है। ज्ञात हो कि 2019 में 80.73% छात्र पास हुए थे।

Post a Comment

0 Comments